Singer Jubin Nautiyal
Singer Aditya Dev
Music Payal Dev
Song Writer Kunaal Vermaa
तेरे जाने का ग़म
और ना आने का ग़म
फिर ज़माने का ग़म
क्या करें?

राह देखे नज़र
रात भर जाग कर
पर तेरी तो खबर ना मिले

बहुत आई गई यादें
मगर इस बार तुम ही आना
इरादे फिर से जाने के नहीं लाना
तुम ही आना

मेरी दहलीज़ से होकर
बहारें जब गुजरती है
यहाँ क्या धूप क्या सावन
हवायें भी बरषति है

हमें पूछों क्या होता है
बिना दिल के जिए जाना
बहुत आई गई यादें
मगर इस बार तुम ही आना

ओ ओ…

कोई तो राह वो होगी
जो मेरे घर को आती है
करो पीछा सदा उन का
सुनो क्या कहना चाहती है

तुम आओगे मुझे मिलने
खबर यह भी तुम ही लाना
बहुत आई गई यादें
मगर इस बार तुम ही आना

मर मरजावां..